sangya ke kitne bhed hote hain

संज्ञा के कितने भेद होते हैं | Sangya ke kitne bhed hote hain

संज्ञा के कितने भेद या प्रकार हैं, यह एक बहुत ही महत्वपूर्ण प्रश्न है, यह कई प्रश्न पत्रों में पूछा जाता है, इसलिए इस प्रश्न का उत्तर जानना बहुत महत्वपूर्ण है, खासकर यदि आप किसी भी प्रकार की परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं।

ठीक है, आप सही जगह पर आए हैं, इसलिए आपको संज्ञाओं के बीच के सभी अंतरों का पता चल जाएगा, जिससे आप अपनी आगामी परीक्षाओं में इससे संबंधित किसी भी प्रश्न को आसानी से हल कर सकते हैं।

संज्ञा किसे कहते हैं? || What is a noun??

संसार के सभी नामों को संज्ञा के रूप में गिना जाता है, अर्थात किसी वस्तु, स्थान और भाव के नाम को संज्ञा कहते हैं।

जैसे – सुन्दरता (गुण), पशु (जाति), मोहन (व्यक्ति), व्यथा (भाव), मारना (क्रिया), दिल्ली (स्थान),।

यह पाँच प्रकार की होती है || There are five types

  • व्यक्तिवाचक संज्ञा
  • जातिवाचक संज्ञा
  • समूहवाचक संज्ञा
  • द्रव्यवाचक संज्ञा
  • भाववाचक संज्ञा

व्यक्तिवाचक संज्ञा || Proper Noun

वे शब्द जो किसी प्राणी, वस्तु, स्थान आदि की समस्त जाति का बोध कराते हैं, जातिवाचक संज्ञा कहलाते हैं। सरल भाषा में बात करें तो किसी व्यक्ति, वस्तु या स्थान की पूरी जाति का वर्णन करने वाले शब्दों को जातिवाचक संज्ञा कहते हैं।

उदाहरण: बेटा, तुम अपने दोस्त के साथ घर जाओ।

जातिवाचक संज्ञा || Common noun

जिस शब्द से किसी प्राणी या वस्तु की पूरी प्रजाति का बोध हो, वे शब्द जातिवाचक संज्ञा कहलाते हैं।

उदाहरण: घोड़ा, फूल, मनुष्य,वृक्ष इत्यादि।

समूहवाचक संज्ञा || Collective nouns

यह संज्ञा सबसे सरल संज्ञा है। जिन संज्ञाओं से एक ही जाति के  व्यक्तियों या वस्तुओं के समूह का बोध होता है, उन्हें सामूहिक संज्ञा कहते हैं। समूहवाचक संज्ञा को समूहवाचक संज्ञा भी कहते हैं।

उदाहरण: मेरे परिवार में छह सदस्य हैं।

द्रव्यवाचक संज्ञा || Material Noun

द्रव्यवाचक संज्ञा क्या हैं : जिन संज्ञा शब्दों से किसी वस्तु या पदार्थ के निर्दिष्ट नाम का बोध होता है, वे संज्ञा शब्द मूल रूप से द्रव्यमानवाचक संज्ञा कहलाते हैं, जैसे सोना, चांदी, लकड़ी आदि।

उदाहरण: गेहूं – भोजन की सामग्री है।

भाववाचक संज्ञा || Abstract noun

गुण, दोष, स्थिति, मन की भावना आदि का वर्णन करने वाले शब्द अधिकारवाचक संज्ञा कहलाते हैं। अर्थात वे शब्द जो आपकी भावनाओं का वर्णन करते हैं, अधिकारवाचक संज्ञा कहलाते हैं।

उदाहरण: हितेन को उसके माता-पिता ने ईमानदारी और सच्चाई की शिक्षा दी है।

Also Read:

Leave a Reply

Your email address will not be published.